CRP Full Form in Hindi | CRP की सम्पूर्ण जानकारी | CRP Test क्या है ?

CRP Full Form in Hindi  | CRP Test क्या होता है ?

CRP full form in Hindi | CRP ka full form in Hindi | CRP full form in Hindi | CRP full form in medical Hindi | CRP full form Hindi me | CRP ka full form Hindi mai | CRP test full form in medical in Hindi | CRP full form Hindi | c r p full form in Hindi | CRP full form | CRP blood test full form in Hindi  |crp meaning in hindi |

Full  form  :-C-Reactive Protein (CRP)

C.R.P Test एक तरह का Blood Test  है यह हमें बताता है , कि हमारी Body में Inflammation  हो रहा है या  नहीं हो रहा है | CRP का मतलब  सी रिएक्टिव  प्रोटीन  होता है, यह एक तरह का Acute phase reactants (APR) है , जब भी बॉडी में Infection हो या किसी तरह का Inflammation तो लीवर के द्वारा Produce होता है | दोस्तों आज कल Covid – 19 यानी कोरोना वायरस होने पर डॉक्टर CRP Test करने को कहते है , तो इस लेख के माधयम से जानने गए की CRP Blood Test क्या होता है , CRP Full form in Hindi , CRP kya hai , CRP कब करना चाहिए ?

सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) टेस्ट क्या है?

C-Reactive Protein (CRP) Test आपके Blood में सी-रिएक्टिव प्रोटीन (सीआरपी) के स्तर को मापता है। सीआरपी एक प्रकार का प्रोटीन है जो आपके लीवर द्वारा बनाया जाता है। जब आपके शरीर में किसी प्रकार का  Inflammation या इन्फेक्शन होता है तो उसके जवाब में  आपके Blood flow भेजा जाता है |

यदि आप घायल हो गए हैं या आपको किसी प्रकार संक्रमण हो गया है जैसे की कोरोना वायरस , तो tissues को बचने के लिए आपके शरीर Inflammation पैदा करता है । CRP Test के द्वारा इस Inflammation को मापा जाता है |

एक Important बात यह है ,कि CRP की कोई खुद की Diagnostic  Utility नहीं है , इसका उपयोग किसी Individual organ में  Infection को Detect करने के लिए नहीं किया जाता है | यह एक Nonspecific test है, इसे सिर्फ यह पता चलता है कि बॉडी के अंदर Infection है |

Inflammation क्या होता है?

अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि इन्फ्लेमेशन क्या होता है? तो आपको बता दें कि इन्फ्लेमेशन हमारे बॉडी में तब होता है जब हमारे बॉडी में कोई फॉरेन पार्टिकल जैसे कि कोरोनावायरस जब एंटर करता है तब हमारी प्रतिरोधक क्षमता उससे लड़ने की कोशिश करती है और उसी प्रोसेस के दौरान Inflammation  होता हैं

सीआरपी का काम क्या है ?

बॉडी में यह इनफॉरमेशन के प्रोसेस को कंट्रोल करता है और सीआरपी का दूसरा काम है कि जो  फॉरेन पार्टिकल को  बॉडी से निकालता है |

आम तौर पर, आपके Blood में सी-रिएक्टिव प्रोटीन का स्तर कम होता है। उच्च स्तर एक गंभीर संक्रमण या अन्य विकार का संकेत हो सकता है।

सीआरपी टेस्ट को कौन सी कंडीशन में कराया जाता है ?(Importance of CRP) 

जब भी कहीं बॉडी में किसी भी तरह का इंफेक्शन हो Acute infection , Chronic infection किसी तरह का  सर्जरी के बाद में  Post-traumatic कंडीशन है , या ऑपरेशन के बाद हो हड्डी में चोट लग गई है , एलर्जी कंडीशन है , Infected Area में  कितना इंफेक्शन हुआ है उसकी जानकारी प्राप्त करने  के लिए सीआरपी टेस्ट कराया जाता है  | 

और इसका दूसरा यूज़ है उपचार के Response को देखने के लिए किया जाता है , जैसे  किसी मरीज को एंटीबायोटिक दिया गया है , तो मरीज में कितना सुधार हुआ है , उसका देखने के लिए सीआरपी टेस्ट कराया जाता है |

दोस्तों इसे  एक एग्जांपल की मदद से समझते हैं ,यदि किसी पेशेंट का CRP  20 मिलीग्राम पर लीटर है, और उसकी एंटीबायोटिक्स चल रही है |और यदि दवाई खाने के बाद पेशेंट की सीआरपी कम नहीं होती है, तो इसका मतलब यह है की दवाई मरीज  पर काम नहीं कर रही है | और यदि CRP की Vlu 20 से 15 आ जाती है ,तो इसका मतलब है की दवाइयां काम कर रही हैं ,तो इस तरह Patient की Condition को मॉनिटरिंग करने के लिए बीसीआरपी को उपयोग किया जाता है | 

किन लोगों को यह टेस्ट कराया जाता है?

जिस व्यक्ति को किसी भी प्रकार का संक्रमण जैसे कोरोना वायरस , जिनको बैक्टीरियल इन्फेक्शन हुआ हो ,  या जिन्हे  चोट लगी हो , T.B के मरीज का , और निमोनिया के मरीज का डॉक्टर के की सलाह से C.R.P Test कराया जाता है |

Covid -19 कोरोना वायरस संक्रमण में CRP Test क्यों कराया जाता है ?

दोस्तों Covid-19 बीमारी कोरोना वायरस से होता है या एक वायरल Infection है | और इसकी वजह से शरीर में CRP का Level बढ़ जाता है |और यदि CRP बढ़ी हुई है, तो इसका मतलब है की शरीर में जयदा Inflammation हुआ है| Inflammation अगर शरीर में cytokine storm भी हो सकता है |cytokine storm में हमारा शरीर अपने आप से ही लड़ने लग जाता है , मतलब Immunity Abnormally activate  हो जाती है , इसकी वजह से साँस लेने में दिकत होने लगती है| शरीर के  बहुत सरे अंग एक साथ खरब होने से मृत्यु भी हो सकती है |

अगर दोस्तों हम  Inflammation बहुत जयदा बढ़ने से पहले ही blood Test से CRP का स्तर जान लेते है , और Anti Inflammatory Drugs यानि सूजन काम करने वाली दवाई शुरू करते है, तो  Complication जैसे  निमोनिया , RDS , Multiorgan failure कोने की सम्भावना काम की जा सकती है |

 CRP का Level कितना होना चाहिए ?

  • दोस्तों Covid-19 में CRP का  Level अगर 10 mg/L से निचे रहती है तो यह सामान्य है |
  • अगर CRP का  Level 10 से 25 mg/L के बिच में है तो यह Mild Covid-19 है |
  • और CRP का  Level 25 से 100 mg/L के बिच है तो इसे Moderate Covid-19 मानते है |
  • यदि CRP का  Level  100 mg/L से बढ़ जाती है तो यह Serious और Critical case है |

अन्य लेख

 

Leave a Comment