CGST Full Form in Hindi –

दोस्तों इस लेख में आपको CGST Full Form in Hindi , cgst full form in banking  , cgst  meaning in hindi , के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है | दोस्तों CGST को समझने से पहले आपको GST को समझना पड़ेगा | तो पहले GST को समझ लेते है |

GST क्या है? 

जीएसटी का मतलब “गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स” है। जीएसटी पूरे देश के लिए Indirect Tax है, जो भारत को एक जैसा बाजार बनाएगा। 17 साल की कवायद के बाद 1 जुलाई 2017 से GST देशभर में लागू हो गया है । GST इसलिए लाया गया क्योंकि अभी एक ही चीज के लिए दो राज्यों में अलग-अलग कीमत चुकानी पड़ती है। जीएसटी लागू होने पर सभी राज्यों में लगभग सभी गुड्स एक ही कीमत पर मिलेंगे।

GST को क्यों लाया गया है ?

GST को केंद्र और राज्यों के 17 से ज्यादा Indirect Taxes के बदले में लागू किया जा रहा है। इससे Excise Duty, Central Sales Tax, (CST), स्टेट के सेल्स टैक्स यानी VAT, Entry Tax, लॉटरी टैक्स, Stamp Duty Tax, Telecom License fees, Turnover Tax, facit के इस्तेमाल या सेल्स और गुड्स के ट्रांसपोर्टेशन पर लगने वाले टैक्स खत्म हो जाएंगे।

कितने प्रकार का GST लगेगा

GST 3 तरह से लगाया जायेगा – 

  1. CGST 
  2. IGST
  3. SGST

IGST , CGST, और SCGT गुड्स और सर्विस टेक्स के ही पार्ट है जो भारत मे 1 जुलाई 2017 से लागु हो गए है |

CGST Full Form in Hindi

CGST का फुल फॉर्म “Central goods and Service Tax” है |

पहले से लगने वाले Taxes का क्या हुआ ?

  1. Excise Duty, Service Tax, custom duty और अन्य केन्द्रिय Indirect Tax कि जगह CGST लगेगा।
  2. Value Added Tax, Entertainment Tax, Entry Tax की जगह SGST लगेगा। 
  3. Central Sales Tax कि जगह IGST लगेगा।

कैसे लगेंगे GST , CGST ,SGST Tax ?

 राज्य के भीतर माल बेचने पर CGST(Central goods and Service Tax) तथा SGST (State Goods and Service Tax) लगेगा. उदाहरण. यदि कोई मध्यप्रदेश का व्यक्ति, मध्यप्रदेश के व्यक्ति को माल बेचता है। और उस वस्तु पर GST की Rate 18% है तो 9% CGST तथा 9% SGST लगेगा | और यदि माल राज्य के बाहर के व्यक्ति को बेचा जाता है तो 18 % की दर से IGSTलगेगा |

 

Leave a Comment